३-४ महीनो की कड़ी धुप और चिलचिलाती गर्मी सहने के बाद, हम सभी के लिए और धरती माता के लिए मानसून एक इच्छित और मनोहर अतिथि है। 

पहली बारिश के बाद धरती की महक मंत्रमुग्ध कर देती है और ठंडी हवाएं हमें तनाव से कुछ हद तक दूर ले जाती है। 

बारिश गर्मी से राहत तो देती है, लेकिन ऋतु अपने साथ एक बाधा लेकर आती है, और वह क्या है? मौसम शुरू होने पर पाचन संबंधी समस्याएं शुरू होती है। 

कैसे और क्यों?

पाचन और मानसून के बीच गहरा सम्बन्ध है। मानसूनी हवा पाचन तंत्र को सुस्त कर देती है। नतीजा – पेट, अग्न्याशय और छोटी आंत जैसे अंग ठीक से काम नहीं करते, और परिणामस्वरूप पेट फूलना, अम्लता, सूजन और पेट भरा-भरासा लगना जैसी समस्याएं उत्पन्न है। 

आयुर्वेद के अनुसार, मानसून के दौरान, वात दोष बढ़ जाता है, और पित्त दोष जमा होने लगता है। इसलिए, उचित पाचन के लिए, दोनों दोषों को संतुलित करना जरुरी होता है। उन्हें कैसे संतुलित करें? निम्नलिखित सुझाओं का उपयोग करें।  

अपने आहार में घी समावेश करें: आयुर्वेद में गाय का घी एक तात्विक अन्न है। घी पाचक रसों को उत्तेजित करता है और आपके शरीर को पोषक तत्वों को अवशोषित करने में मदद करता है। इसके अलावा, यह आंत की सूजन को रोकने में प्रभावी है और कब्ज को कम करने में मदद करता है।

अदरक का भोजन में समावेश करें: अदरक पाचन संबंधी किसी भी समस्या के लिए एक आदर्श तत्व है। अदरक लार, पित्त और गैस्ट्रिक रस के स्राव को बढ़ाता है और आपके शरीर को भोजन मे समाविष्ट पोषक तत्वों को तेजी से अवशोषित करने में मदद करता है। यह गैस्ट्रिक सूजन से भी लड़ता है और पेट की ख़राबी को दूर करने में सहायता करता है।

सही भोजन चुनें: ताजा पका हुआ अन्न खायें, और अधपका / बासी भोजन, या कच्ची सब्जियों का  सेवन न करें, क्योंकि उनमें बैक्टीरिया हो सकते हैं, जो पाचन समस्याओं मे बढ़ावा कर सकते है। 

आयुर्वेद-आधारित उपचार के साथ पाचन को स्वस्थ रखे: आयुर्वेद-आधारित उपचार पाचन समस्याओं को जल्दी और प्राकृतिक रूप से जांचने में मदद करते हैं। एसिडिटी, पेट फूलना और अपच जैसी सामान्य पाचन संबंधी बीमारियों को नियंत्रित करने के लिए आपको बस जीवदया अन्ताज की जरूरत है। ऑनलाइन ऑर्डर! https://amzn.to/3zmNcK5 पर जाएँ।

Add Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Subscribe <span> weekly newsletter </span>

Subscribe weekly newsletter